फनी तूफान की ओडिशा में तबाही, ओडिशा सरकार ने छोड़ा सहायता देने वालो का हाथ,केरला ने दिया साथ-अपने हुए पराए और पराए हुए अपने

81
0
Share:

मुंबई :  पिछले सप्ताह आये फनी समुद्री तूफान में अपना सब कुछ गंवा बैठे ओडिशा के लोगों की सहायता के लिए मुम्बई का प्रवासी उड़िया समाज सक्रिय हो गया है। प्रवासी उड़िया समाज से जुड़ा हर व्यक्ति अपनी मातृभूमि की सहायता के लिए कुछ न कुछ देना चाहता है पर यहां वाशी में ओडिशा राज्य सरकार द्वारा बनाये गए ओडिशा भवन के मैनेजर ने प्रवासी उड़िया समाज को कोई भी सहायता देने से इंकार कर दिया है। ओडिशा भवन के मैनेजर कृपानिधि विश्वाल ने कहा है कि उन्हें ओडिशा राज्य के अंडर सेक्रेटरी की तरफ से सहयोग न देने का निर्देश मिला है। ओडिशा भवन के मैनेजर के इस निंदनीय इंकार से प्रवासी उड़िया समाज में भारी आक्रोश फैल गया है।

ओडिशा सरकार की NHRC से किए शिकायत*

वाशी स्थित ओडिशा भवन के मैनेजर कृपानिधि विश्वाल द्वारा फानी तूफान पीड़ितों की सहायता न करने के क्रूर व्यवहार की शिकायत यंहा के प्रवाशी ओडिया ने किए है । नवी मुंबई के प्रवासी उड़िया समाज से जुड़े एक कार्यकर्ता आर.के महापात्र ने कहा कि फानी तूफान पीड़ितों की सहायता न करने वाले ओडिशा भवन के मैनेजर कृपानिधि विश्वाल और उन्हें इस तरह का आदेश देने वाले ओडिशा राज्य के अंडर सेक्रेटरी के विरुद्ध उन्होंने पीएमओ, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, ओडिशा के राज्यपाल, मुख्यमंत्री व अन्य संबंधित विभागों से शिकायत कर दिया है ।

केरल भवन आया आगे

ओडिशा में आये समुद्री तूफान से पीड़ित लोगों की सहायता करने से जहां खुद राज्य सरकार के स्वामित्व वाले नवी मुंबई के वाशी स्थित ओडिशा भवन के मैनेजर कृपानिधि विश्वाल द्वारा किसी भी किस्म की सहायता करने से इनकार कर देने के बाद बगल ही स्थित केरल राज्य के स्वामित्व वाले केरल भवन के प्रबंधक ने सहायता का हाथ बढ़ाया है। केरल भवन की इस सहृदयता की प्रवासी उड़िया समाज ने धन्यवाद दिया है।

गांव लेंगे दत्तक

फानी समुद्री तूफान में करीब 2 दर्जन से अधिक लोगों की मौत हुई है और लोगों की हजारों करोड़ रुपये की संपत्ति भी नष्ट हो गई है। ऐसे में मुंबई में रह रहे प्रवासी उड़िया समाज ने तूफान में सर्वाधिक आपदाग्रस्त गांव को दत्तक लेने का भी निर्णय लिया है।

ओडिशा भवन, वाशी में हुई बैठक

फानी तूफानग्रस्त लोगों तक सहायता पहुंचाने के लिए नवी मुंबई के वाशी स्थित ओडिशा भवन में उड़िया समाज की एक बैठक रखी गई थी। इस बैठक में उड़िया समाज के प्रमुख व प्रभावशाली सदस्य उपस्थित थे। बैठक में ओडिशा तक सबसे पहले अत्यावश्यक जीवनोपयोगी वस्तुओं को पहुंचाने का निर्णय लिया गया। दत्तक लिए जा रहे गांव के सभी निवासियों का पुनर्वसन किया जाएगा।

17 जिले प्रभावित

फानी समुद्री तूफान से ओडिशा के करीब 17 जिलों को बहुत नुकसान पहुंचा है। इनमें भुवनेश्वर व पुरी जैसे जिले सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं। प्रवासी उड़िया समाज के रंजन रॉय का कहना था कि तूफान की तबाही से स्मार्ट सिटी भुवनेश्वर को इतना नुकसान हुआ है कि यह विकास की दौड़ में करीब 10 से 15 वर्ष पीछे चला गया है। अनेक जिलों की खेती पूरी तरह से नष्ट हो गई है। समुद्री किनारे वाले दर्जनों गांवों के 1 से 3 किलोमीटर भीतर तक समुद्र का खारा पानी भर जाने से खेती को बहुत नुकसान हुआ है। तूफान में हजारों कच्चे घरों के छप्पर उड़ गए हैं।

दर्जनों गांवों का बाहरी संपर्क टूटा

फानी समुद्री तूफान से प्रभावित गांवों में बिजली, पीने के पानी, फोन, दवाओं व अन्य सुविधाओं की बहुत अधिक कमी हो गई है। फोन व बिजली के तार टूट जाने से दर्जनों गांवों का बाहरी संपर्क टूट गया है। इन सुविधाओं को बहाल करने में अभी भी 4 से 5 दिन लगने वाले हैं। इन सुविधाओं को जल्द से जल्द दुरुस्त करने के लिए राज्य सरकार युद्धस्तर पर कार्य कर रही है।

नवी मुंबई से भेजेंगे दवाएं व पानी

ओडिशा भवन में ली गई बैठक में लिए गए निर्णय के तहत नवी मुंबई से सबसे पहले पीने के पानी की बोतलों व अत्यावश्यक दवाओं को भेजा जाएगा। इसके बाद अनाज, कपड़े व बर्तन आदि भेजने की कोशिश की जाएगी। पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट उड़िया समाज के रश्मिकांत महापात्रा ने बताया कि समुद्री तूफान के 6 दिन बीतने के बावजूद अभी तक ओडिशा के तूफानग्रस्त इलाकों की सटीक स्थिति की जानकारी नहीं आ पाई है।

समाज के सभी वर्गों से अपील

उड़िया समाज के पी के बेहेरा ने नवी मुंबई, ठाणे व मुंबई में रह रहे प्रवासी उड़िया समाज सहित अन्य राज्यों के सभी प्रवासियों से अपील किया है कि तूफानग्रस्त लोगों की सहायता के लिए वे आगे आएं और खुलकर सहायता करें। फानी तूफान से पीड़ितों की सहायता के लिए अभी तक 1 लीटर क्षमता वाली पानी की 12,000 बोतलों को पुरी जिले के लिए भेज दिया गया है।

यहां भेजें सहायता

ओडिशा के तूफानग्रस्त लोगों की सहायता के लिए इच्छुक लोग “Chief Minister Relief Fund, Odisha” के नाम से चेक या डिमांड ड्राफ्ट दे सकते है , दानदाता चाहें तो दान देने के लिए सुविधा व सहायता प्राप्त करने के लिए आर.के. महापात्रा के मोबाइल नंबर – 9892005199 अथवा डॉ. पी.के. मोहंती के मोबाइल नंबर – 9322223033, 8080225444,पर संपर्क कर सकते है।

Leave a reply